भारतीय संविधान के स्त्रोत (Borrowed Features)

borrowed-features-indian-constitution

भारतीय संविधान का निर्माण 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन में बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर जी द्वारा किया गया और 26 नवम्बर 1949 को यह महामहीम राष्ट्रपति जी (श्री राजेंद्र प्रसाद जी) को सौपा गया। भारतीय संविधान विश्व में सबसे बड़ा लिखित संविधान है |

 

संविधान एक नजर –

भागअनुच्छेदअनुसूचियाँभाषाएँसंसोधन
संविधान सभा द्वारा22395814
वर्तमान संविधान में25448122298

 

भारतीय संविधान पर सबसे अधिक प्रभाव भारतीय शासन अधिनियम 1935 का है। भारतीय संविधान के 395 अनुच्छेदों में से लगभग 250 अनुच्छेद ऐसे है, जो 1935 ई. के अधिनियम से या तो शब्दशः ले लिए गए है या फिर उनमे बहुत थोडा परिवर्तन किया गया है।
इसके अलावा भारत के संविधान के निर्माण में 10 देशो के संविधान की अहम् भूमिका है क्योकि इन्ही 10 देशो के प्रमुख तत्वों को लेकर भारत का संविधान बनाया गया है, आइए जाने वे  देश कौन कौन से हैं –

  1. आयरलैंड
  2. ब्रिटेन
  3. दक्षिण अफ्रीका
  4. आस्ट्रेलिया
  5. जर्मनी
  6. रूस
  7. कनाडा
  8. जापान
  9. अमेरिका
  10. फ़्रांस

 

इन 10  देशो को याद रखने की युक्ति देखिए –

युक्ति :
आबिद आज रुक जा अमेरिका को फ़्रांस की मदद से भारत का संविधान बनाना है।
स्पष्टीकरण :

-आयरलैंड
बि-ब्रिटेन
-दक्षिण अफ्रीका
-ऑस्ट्रेलिया
-जर्मनी
रु-रूस
क-कनाडा
जा-जापान
अमेरिका-अमेरिका
फ़्रांस-फ़्रांस

 

आइए अब यह जानते है कि इन देशो के संविधान से कौन कौन से तत्व लिए गए हैं, इसके लिए आप नीचे दी गयी वार्ता को पढ़िए, एक बार पढने के बाद ये आपको कभी नहीं भूलेगी –
एक बार कुछ लोग बैठकर आपस मे बाते कर रहे थे और भारत के “डॉ. भीम राव अम्बेदकर” चुप चाप सुन रहे थे। बाते कुछ इस प्रकार हो रही थी…

 

1. ब्रिटेन :-

पूरे भारत देश पर मेरा कब्जा था इस लिये संसद का निर्माण अकेले करेँगे |
संसद – संसदात्मक शासन प्रणाली(संसदीय शासन प्रणाली)
निर्माण – विधि निर्माण की प्रक्रिया(कानून निर्माण की प्रक्रिया)
अकेले – एकल नागरिकता(इकहरी नागरीकता)
*अन्य –
1.राष्ट्रपति पद की औपचारिक स्थिति
2.मंत्री मण्डलीय शासन
3.मंत्री परिषद का सामुहिक उतरदायित्वनियत्रक
4.महालेखा परीक्षक पद का प्रावधान
5.सांसदों एवं विधायकों के विशेषाधिकारराष्ट्रपति की क्षमादान शक्ति

 

2. अमेरीका :-

नही, मेरे पास संयुक्त राष्ट्र संघ है। इसलिए लोगो को न्याय और स्वतंत्रता दिलाना मेरा अधिकार है|
न्याय – न्यायिक पुनरावलोकन
स्वतंत्रता – स्वतंत्रता का अधिकार
अधिकार – मौलिक अधिकार
*अन्य –
1.राष्ट्रपति पर महाभियोग
2.उप राष्ट्रपति
3.संविधान सर्वोच्च
4.न्यायाधीशों को हटाने की प्रक्रिया
5.वितीय आपातकाल(विशेष),
6.संविधान का तीनों सेनाओं का सर्वोच्च कमाण्डर होना,संघात्मक शासनके प्रावधान

 

 

3. जर्मनी :-

तुम लोगो ने हमे विश्व युद्ध में हराया है इसलिये अब मै आपातकाल घोषित करुंगा |
आपातकाल – देश में आपातकाल लगाना |

 

 

4. फ्रांस :-

मै तो पहले से ही गणतंत्र देश हूँ ये तुम सब जानते हो|
गणतंत्र – गणतंत्रात्मक शासन

 

 

5. कनाडा :-

तुम लोग को जो करनी हो करो। मै ऐक शक्तिशाली देश हूँ शक्ति का बँटवारा कर अपनी सुरक्षा कर लुंगा |
शक्ति का बँटवारा – राज्यो मे शक्ति का विभाजन
*अन्य –
1.संघात्मक विशेषताएँ अवशिष्ट शक्तियाँ केंद्र के पास
2.युनियन आॅफ स्टेट्स शब्द की अवधारणा
3.राष्ट्रपति का सर्वोच्च न्यायालय से परामर्श प्राप्त करना

 

 

6. आयरलैँड :-

अरे यार। तुम लोग कि निती निर्देश हमे कुछ समझ नही आ रही|
नीति निर्देश – निति निर्देशक सिद्धांत
*अन्य –
1.राष्ट्रपति के निर्वाचन मंडल की व्यवस्था
2.राष्ट्रपति द्वारा राज्य सभा में विज्ञान,कला,साहित्य तथा समाज सेवा के क्षेत्र में 12 व्यक्तियो का मनोनयन
3.आपातकालीन उपबंध
Note : आयरलैंड से जो भी लिया गया है वो अधिकतर राष्ट्रपति से सम्बंधित है।

 

 

7. ऑस्ट्रेलिया :-

मै विश्व कप क्रिकेट मे हमेशा सूची नं 1 पर रहता हूँ |
सूची – समवर्ती सूची
*अन्य –
1.राज्य और केंद्र के बीच सम्बन्ध तथा शक्तियो का विभाजन
2.प्रस्तावना की भाषा

 

 

8. दक्षिण अफ्रिका :-

पर हम इतना अच्छा खेलने के बाद भी आज तक सेमी फाइनल तक भी नही पहचे सायद अपने खेल मे कुछ संसोधन करना पङेगा |
संसोधन – संविधान संसोधन की प्रक्रिया
*अन्य –
राज्यसभा के सदस्यों का निर्वाचन

 

 

9. रुस :-

भारत मेरा दोस्त है और उसकी मदद करना हमारा मूल कर्तव्य है |
मूल कर्तव्य
*अन्य –
1.पंचवर्षीय योजनाएं
2.समाजवाद

 

 

10- जापान :-

लकड़ी के घर बनाने की विधि हमें अच्छे से पता है |
विधि – विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया

 

भारतीय संविधान वकीलों का स्वर्ग है।

-आइवर जैनिंग

 

इस पृष्ठ को अपने मित्रों से साझा करे

टिप्पणी करे -